Google पर भूलकर भी ये चीज़ें सर्च ना करें, वरना पड़ सकते हो मुसीबत मे

अक्सर जानकारी हासिल करने के लिए हम झट से Google करने लगते हैं. किसी सवाल का जवाब जानना हो या कहीं जाने का रास्ता ढूंढना हो, गूगल मिनट में हर जानकारी हमारे सामने पेश कर देता है. इसीलिए दुनियाभर में अधिकतर लोग Google Search का ही इस्तेमाल करते हैं.

पर कुछ चीज़ें है जो सर्च करना आपको भारी पढ़ सकता है यहां तक कि गूगल पर अपने हर सवाल का जवाब ढूंढने पर आपको जेल भी हो सकती है.

बम बनाने का तरीका
bomb search result
bomb search result

बम बनाने का तरीका. इसे गूगल पर कतई सर्च न करें, क्योंकि इन गतिविधियों पर Cyber Cell की पैनी नज़र होती है. ऐसा करने से आप मुश्किल में पड़ सकते हैं. सुरक्षा एजेंसियां आपके ख़िलाफ़ ‘साइबर क्राइम’ के तहत कार्रवाई कर आपको जेल भी भेज सकती हैं.

चाइल्ड पोर्नोग्राफ़ी
child porn
child porn

चाइल्ड पोर्नोग्राफ़ी सर्च करना भारत में ग़ैर-क़ानूनी है. भारत ही नहीं, दुनिया के अधिकतर देशों में चाइल्ड पोर्नोग्राफ़ी पूरी तरह से बैन है. ऐसी संदिग्ध चीज़ों को सर्च करने पर आपके ख़िलाफ़ ‘साइबर क्राइम’ के तहत कार्रवाई कर आपको जेल भी भेज सकते हैं.

दवाईयों सर्च करना
pils search
pils search

अक्सर लोग इलाज़ के लिए भी गूगल पर दवाइयां सर्च करने लगते हैं. ऐसा बिल्कुल भी ना करें क्योंकि अगर बिना डॉक्टर की सलाह के गूगल पर सर्च करके आप कोई दवाई लेते हैं तो इससे आपकी जान को भी ख़तरा हो सकता है. और आपका सर्च का डाटा थर्ड पार्टी को ट्रांसफ़र कर दिया जाता है. जिसके बाद आपको लगातार उस बीमारी और उसके ट्रीटमेंट से संबंधित विज्ञापन दिखाए जाते हैं.

कस्टमर केयर नंबर सर्च
 
customer number search
customer number search

बैंकिंग, सिम और हेल्थ इंश्योरेंश आदि से जुड़ी जानकारी हासिल करने के लिए उससे संबंधित कस्टमर केयर का नंबर गूगल पर सर्च नहीं करना चाहिए क्यूंकी ये सुरक्षा के लिहाज से बेहद ख़तरनाक है. हैकर्स अक्सर Google Search में फ़र्जी हेल्पलाइन नंबर फ़्लोट कर देते हैं. ऐसे में जब आप उस नंबर पर कॉल करेंगे तो हैकर्स आपके बैंकिंग, सिम और हेल्थ इंश्योरेंश से जुड़ी जानकारियां हासिल कर सकता है.

गूगल पर ख़ुद को सर्च करना
name search
name search

कभी अपना नाम गूगल सर्च न करे क्यूंकी गूगल के पास आपकी सर्च हिस्ट्री का पूरा डेटाबेस होता है. ऐसे में बार-बार सर्च करने से इसके लीक होने का ख़तरा रहता है. हैकर्स इसी इंतज़ार में रहते हैं कि कौन सी चीज़ उन्हें आसानी से हैक करने को मिल जाए.

Share Now

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *